07/06/2011

आईये आज तो दिल भर के बाते करे...

जी नमस्कार आप सभी को , अगर आप को यहां दो लाईने ही दिख रही हे तो आप इस ब्लाग परिवार के टाईटल पर किल्क करे,या फ़िर Home पर किल्क करे तो आप को तीन लाईने दिखेगी, जी यहां तीन लाईने हे आप की नयी पोस्ट १, ,आप की नयी पोस्ट २ आप की नयी पोस्ट ३,
ऒर हर थोडी देर बाद आप अपडॆट करने के लिये F5 को दबाये, अगर आप भी अपना ब्लाग इस परिवार मे शामिल करना चाहते हे तो , हमे अपना URL यानि अपने ब्लाग का पता भेज दे, धन्यवाद

16 टिपण्णियां:

यशवन्त माथुर (Yashwant Mathur) said...

सर! मेरे नए ब्लॉग का URL-http://nayi-purani-halchal.blogspot.com है.कृपया इसे भी यहाँ स्थान देने की कृपा करें.

सादर

अरुण कुमार निगम (mitanigoth2.blogspot.com) said...

हमेशा जवाँ गीत सुन कर मन तृप्त हो जाता है.नदी-नारे न जाओ श्याम पैयाँ परूँ को पुरानी पोस्ट में देखा .मजा आ गया.वहीदा जी चेहरे के भाव और आशा जी की गायकी का अंदाज इस गीत की विशेषता है.आपका आभार.

mahendra srivastava said...

बहुत सुंदर

Rajeev Sharma, Lawyer said...

yaaden zakhm hre krti hain
meripida.blogspot.com

Patali-The-Village said...

वहीदा जी चेहरे के भाव और आशा जी की गायकी का अंदाज इस गीत की विशेषता है.आपका आभार|

रमेश कुमार जैन उर्फ़ "सिरफिरा" said...

लीगल सैल से मिले वकील की मैंने अपनी शिकायत उच्चस्तर के अधिकारीयों के पास भेज तो दी हैं. अब बस देखना हैं कि-वो खुद कितने बड़े ईमानदार है और अब मेरी शिकायत उनकी ईमानदारी पर ही एक प्रश्नचिन्ह है
मैंने दिल्ली पुलिस के कमिश्नर श्री बी.के. गुप्ता जी को एक पत्र कल ही लिखकर भेजा है कि-दोषी को सजा हो और निर्दोष शोषित न हो. दिल्ली पुलिस विभाग में फैली अव्यवस्था मैं सुधार करें
कदम-कदम पर भ्रष्टाचार ने अब मेरी जीने की इच्छा खत्म कर दी है.. माननीय राष्ट्रपति जी मुझे इच्छा मृत्यु प्रदान करके कृतार्थ करें मैंने जो भी कदम उठाया है. वो सब मज़बूरी मैं लिया गया निर्णय है. हो सकता कुछ लोगों को यह पसंद न आये लेकिन जिस पर बीत रही होती हैं उसको ही पता होता है कि किस पीड़ा से गुजर रहा है.
मेरी पत्नी और सुसराल वालों ने महिलाओं के हितों के लिए बनाये कानूनों का दुरपयोग करते हुए मेरे ऊपर फर्जी केस दर्ज करवा दिए..मैंने पत्नी की जो मानसिक यातनाएं भुगती हैंथोड़ी बहुत पूंजी अपने कार्यों के माध्यम जमा की थी.सभी कार्य बंद होने के, बिमारियों की दवाइयों में और केसों की भागदौड़ में खर्च होने के कारण आज स्थिति यह है कि-पत्रकार हूँ इसलिए भीख भी नहीं मांग सकता हूँ और अपना ज़मीर व ईमान बेच नहीं सकता हूँ.

अमरेन्द्र नाथ त्रिपाठी said...

क्या बात है ! बहुत सुंदर गीत !

भाटिया जी, मैंने अपना अवधी ब्लोग वर्ड्प्रेस पर ट्रांसफर कर लिया है, इसे अपने स्म्कलक में स्थान देने की कृपा करें , निजी डोमेन-यूआरएल है:

http://awadh.org/

सादर!

मनीष झा said...

www.jhamanu.blogspot.com

Dr. Monika Sharma said...

Bahut badhya..... Kripya mere is blog ko bhi Blog pariwar me shamil karen....

http://my-babynotes.blogspot.com/

Mani Singh said...

http://realyanarial.blogspot.com
mere blog ka url ise jodne ki kripa kare

रमेश कुमार जैन उर्फ़ "सिरफिरा" said...

मेरा बिना पानी पिए आज का उपवास है आप भी जाने क्यों मैंने यह व्रत किया है.

दिल्ली पुलिस का कोई खाकी वर्दी वाला मेरे मृतक शरीर को न छूने की कोशिश भी न करें. मैं नहीं मानता कि-तुम मेरे मृतक शरीर को छूने के भी लायक हो.आप भी उपरोक्त पत्र पढ़कर जाने की क्यों नहीं हैं पुलिस के अधिकारी मेरे मृतक शरीर को छूने के लायक?

मैं आपसे पत्र के माध्यम से वादा करता हूँ की अगर न्याय प्रक्रिया मेरा साथ देती है तब कम से कम 551लाख रूपये का राजस्व का सरकार को फायदा करवा सकता हूँ. मुझे किसी प्रकार का कोई ईनाम भी नहीं चाहिए.ऐसा ही एक पत्र दिल्ली के उच्च न्यायालय में लिखकर भेजा है. ज्यादा पढ़ने के लिए किल्क करके पढ़ें. मैं खाली हाथ आया और खाली हाथ लौट जाऊँगा.

मैंने अपनी पत्नी व उसके परिजनों के साथ ही दिल्ली पुलिस और न्याय व्यवस्था के अत्याचारों के विरोध में 20 मई 2011 से अन्न का त्याग किया हुआ है और 20 जून 2011 से केवल जल पीकर 28 जुलाई तक जैन धर्म की तपस्या करूँगा.जिसके कारण मोबाईल और लैंडलाइन फोन भी बंद रहेंगे. 23 जून से मौन व्रत भी शुरू होगा. आप दुआ करें कि-मेरी तपस्या पूरी हो

hem pandey said...

सुन्दर पुराना गीत सुनकर आनंद आया | आभार |

Editor said...

pl change my URL

http://www.gandhi4india.com/

Virendra said...

Sir Namaskaar !


Please mere in blogs ko bhi blog parivaar ka hissa zroor banaayen...



http://e-watantereliye.blogspot.com/

http://aazaadparinda.blogspot.com/

http://neelegaganketale.blogspot.com

Virendra said...

And this one too......!


http://dhartikahepukaarke.blogspot.com




Thanks...........!

ravisolanki said...

mujhe bhi apne sath jode. maine naya naya blog banaya hai is liye mujhe jyada gyan nhi hai. mgr mai apne email se blog me pravesh krta hu. ravisolanki786@gmail.com toh kya aap mujhe is email k jariye apne sath jod sakte hai. dhanyvaad

 
Minima 4 coloum Blogger Template by Beloon-Online.
Simplicity Edited by Ipiet's Template