07/01/2011

आओ कुछ नाच गाना हो जाये...

आप अपने URL टिपण्णी मे छोड सकते हे....



जब भी फ़ुरसत हो तभी सुने जी कोई जल्दी नही...लेकिन ध्यान से सुने जब भी सुने, लडका दिल जोडने की बात करता हे तो लडकी....?

14 टिपण्णियां:

उपेन्द्र ' उपेन ' said...

यहाँ तो रात के १ बज रहे है इस समय......... पड़ोसी परेशान हो जायेंगे. अतः मन में ही गुनगुनाना पड़ेगा.

MANOJ KUMAR said...

नाम से लगा, कहीं नया वाला गीत हो, लेकिन पुराना वाला देखकर मन झूम उठा. सचमुच, ओल्ड इस गोल्ड.

खुशदीप सहगल said...

ओल्ड इस गोल्ड

राज जी,
नया साल मुबा्रक, कुछ व्यस्तता की वजह से ब्लॉग परिवार पर मेरी नज़र ही नहीं पड़ी...

इसका विजेट अपने ब्लॉग पर लगाने पर भी मेरी पोस्ट दिखाई नहीं दे रही...

मेरा यूआरएल है-
http://www.deshnama.com/

जय हिंद...

ZEAL said...

ऊर्जा से भरपूर बहुत अच्छा गीत है।
आभार।

साहित्य-शिल्पी said...

साहित्य शिल्पी भी आपके एग्रीगेटर पर नहीं दिख रही है

www.sahityashilpi.com

रजनीश तिवारी said...

कृपया मुझे भी शामिल कर लें इस परिवार में :
http://rajneesh-tiwari.blogspot.com
धन्यवाद . शुभकामनाएँ

दिगम्बर नासवा said...

वाह आनंद आ गया ... किशोर का सच में जवाब नहीं ...

P S Bhakuni said...

आदरणीय श्री राज भाटिय़ाजी,
नमस्कार
ब्लॉग जोड़ने के लिए आपका ह्र्दय से बहुत बहुत धन्यवाद,

K.R.Baraskar said...

Bhai sahab,
Jay ramjee ki,
hum bhi line me khade hai:-

http://svatantravichar.blogspot.com

RAJEEV KUMAR KULSHRESTHA said...

निसंदेह ।
यह एक प्रसंशनीय प्रस्तुति है ।
धन्यवाद ।
satguru-satykikhoj.blogspot.com

Devendra Gehlod said...

ji hamara blog ka address bhi jodiye

http://myindorecity.blogspot.com

http://jakhira.blogspot.com

shekhar suman said...

राज भाटिया जी...नमस्कार....
हमर ब्लॉग भी जोड़ दीजिये न....

http://nayabasera.blogspot.com/

संजय भास्कर said...

ब्लॉग जोड़ने के लिए आपका ह्र्दय से बहुत बहुत धन्यवाद,

Arvind Mishra said...

यहाँ तो झकाझोर चल रहा है सब -

 
Minima 4 coloum Blogger Template by Beloon-Online.
Simplicity Edited by Ipiet's Template